New Labour code: नए लेबर कानून के बारे में आई नई अपडेट, अब इस दिन लागू हो जाएंगे वेज कोड

 



केंद्र तैयार, राज्य सरकारों को तय करनी होगी अंतिम डेडलाइन 

https://www.apnamistri.in/2022/05/transformer-relay-and-protection-system.html


श्रम मंत्रालय के सूत्रों की मानें तो न्यू वेज कोड को 1 अक्टूबर से लागू किया जा सकता है। लेकिन, इस पर फैसला भी तब होगा जब राज्यों की तरफ से चारों कोड्स पर ड्राफ्ट्स मिल जाएं। हालांकि, कोड्स को चरणबद्ध तरीके से लागू किया जा सकता है। केंद्र सरकार 1 अक्टूबर 2022 से पहले ऑफिशियल नोटिफिकेशन जारी कर सकती है। 1 अक्टूबर 2022 से कोड्स को लागू माना जाएगा। राज्यों को इस मामले में ढ़ील दी जा सकती है कि वो अपने हिसाब से कोड्स को लागू करें। लेकिन, चारों कोड्स की अंतिम डेडलाइन तय करनी होगी। इसके बाद अंतिम डेडलाइन तक सभी कोड्स को लागू करना होगा। इसके लिए राज्यों को 1 साल का वक्त दिया जा सकता है।

छुट्टियां, काम का समय और दिन के नियम बदलेंगे

https://www.apnamistri.in/2021/11/Haryana sarkar karmchari holiday rule.html

29 केंद्रीय लेबर कानूनों को मिलाकर 4 नए कोड (New Wages Code) बनाए गए हैं। इनमें इंडस्ट्रियल रिलेशंस कोड, कोड ऑन ऑक्‍यूपेशनल सेफ्टी, हेल्‍थ एंड वर्किंग कंडीशंस कोड (OSH), सोशल सिक्‍योरिटी कोड और कोड ऑन वेजेज शामिल हैं। लेकिन, सबसे बड़ा बदलाव ‘वेज’ की परिभाषा का है। इसमें विस्तार किया गया है। नए लेबर कोड में सैलरी का 50 फीसदी सीधे तौर पर वेजेज में शामिल होगा। EPFO बोर्ड मेंबर और भारतीय मजदूर संघ के जनरल सेक्रेटरी विरजेश उपाध्याय के मुताबिक, कर्मचारियों के लिए सोशल सिक्योरिटी (Social Security) काफी अहम है। इसमें कई अहम पहलू हैं। कर्मचारियों के काम के घंटे, सालाना छुट्टियां, पेंशन, PF, टेक होम सैलरी, रिटायरमेंट जैसे अहम मुद्दे पर नियमों में बदलाव होना है। 48 घंटे से ज्यादा काम कराने पर रोक होगी। मतलब हर हफ्ते सिर्फ 48 घंटे काम होगा।

0 Comments