Capacitor के प्रकार,आकार ,प्रयोग full details हिंदी और इंग्लिश...

 Capacitor के प्रकार,आकार ,प्रयोग full details हिंदी और इंग्लिश...


Capacitor एक ऐसी युक्ति है जिसका उपयोग इलेक्ट्रिकल में और इलेक्ट्रॉनिक्स दोनों प्रकार से किया जाता है यह दो सिर वाला एक ऐसा यंत्र है जिसमें दो चालकों के बीच में  अचालक पदार्थ भर दिया जाता है तथा दो चालकों को प्रथक प्रथक रख दिया जाता है जिनसे एक-एक सिरा निकालकर कैपीसीटर की बॉडी से बाहर क्रिमिनल बना दिया जाता है यह व्यवस्था संधारित या कैपेसिटर कहलाती है कैपेसिटर में प्रयोग की गई दोनों धात्विक प्लेटें पर एक दूसरे के विपरीत आवेश होता है जब इन्हें किसी बिजली से जोड़ा जाता है तो इन पर धारा का परवाह नहीं होता है लेकिन दोनों प्लेटों पर एक दूसरे के विपरीत आवेश जमा हो जाता है कैपी सीटर के प्लेटों पर धारा का प्रवाह तभी होता है जब विद्युत धारा समय के साथ बदले या हम इस प्रकार कह सकते हैं की नीयत डीसी विभवांतर लगने पर सफाई अवस्था में कैपेसिटी में कोई धारा नहीं बहती किंतु दोनों सिरों पर अल्टरनेटिव करंट लगने पर प्लेटो में आवेश संचित होने लगता है जिसके कारण बाहरी सर्किट में विद्युत धारा बहने लग जाती है।https://www.apnamistri.in/2020/10/insulator-full-details-in.html


कैपिटल को देखते हुए आपके मन में यह सवाल तो जरूर आया होगा की कैपिसिटर कितने प्रकार का होता है कैपेसिटर मुख्य रूप से तीन प्रकार का होता है


1. Variable capacitor

इस प्रकार के कैपेसिटर की कैपेसिटी को कम या ज्यादा किया जा सकता है वेरिएबल कैपेसिटी छोटे-छोटे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट हो में प्रयोग किए जाते हैं तथा इनमें दोनों प्लेटों के मध्य ए चालक के रूप में हवा का प्रयोग किया जाता है कैपिटल कि चालक प्लेटें एक सॉफ्ट से जुड़ी होती हैं जिसको घुमा कर प्लेटों को नजदीक या दूर किया जा सकता है ताकि कैपेसिटर की कैपेसिटी को कम या ज्यादा किया जा सके।

2. Fixed capacitor


Paper type capacitor

पेपर टाइप capacitor  अचालक के रूप में मॉम या तेल में डूबा हुआ तथा चालक प्लेटें एलुमिनियम या टिन फायल से बनी हुई होती हैं पेपर टाइप कैपेसिटर 600 व्हाट तक बनाए जाते हैं तथा इनकी कैपेसिटी 0.001- 1.0 एमएफ तक होती हैhttps://www.apnamistri.in/2020/10/transmission-tower-full-details-in.html


सिरेमिक कैपिसिटर

इस प्रकार के कैपेसिटी में एलुमिनियम की दो प्लेटें प्रयोग की जाती हैं जिनके बीच में सिरामिक कंपाउंड की परत लगा दी जाती है चौकी ए चालक का काम करती है इनका प्रयोग इलेक्ट्रॉनिक्स सर्किट में किया जाता है


माइका कैपिसिटर

इस प्रकार के कैपेसिटर में अचालक के रूप में धातु कोयल और माइका की परत एक दूसरे पर बारी-बारी चढ़ाकर प्रयोग की जाती है यह कहकर भी इलेक्ट्रॉनिक सर्किटओं के लिए प्रयोग किए जाते हैं।


इलेक्ट्रोलाइट कैपिसिटर

इस प्रकार के कैपेसिटी में अधिकतर अमोनियम बोरेट या सोडियम फास्फेट का घोल बनाकर इलेक्ट्रोलाइट के रूप में प्रयोग किया जाता है जोकि दोनों प्लेटों के मध्य में अचालक का कार्य करता है।

3. पोलराइज्ड कैपेसिटर

इस प्रकार का कैपिटल इलेक्ट्रोलाइट टिक कैपेसिटी भी कहलाता है यह बिजली की आपूर्ति का उत्पादन वर्तमान की आवश्यकता को स्त्रोत बना सकता है और रेटेड डीसी आपूर्ति वोल्टेज कर सकता है।https://www.apnamistri.in/2020/10/transmission-line-full-detail.html

 Capacitor is a device that is used both in electrical and electronics. It is a two-head device that fills the dielectric material between two drivers and the two drivers are placed in a first place with one-  A head is removed and made criminal out of the capacitor's body. This arrangement is called a capacitor or capacitor. The two metallic plates used in the capacitor have opposite charges against each other when they are connected to an electric current regardless of the current.  Does not happen, but the charge on both plates accumulates opposite to each other, the current flows on the plates of the capi sitter only when the electric current changes with time or we can say that the intent DC is in the cleaning state when the differential occurs.  There is no current flowing in the capacitance, but when the current is present at both ends, the charge starts to accumulate in the plates due to which current starts flowing in the external circuit.



 Looking at the capital, this question must have come in your mind, how many types of capacitors are there, there are mainly three types of capacitors.


 1. Variable capacitor

 The capacitance of this type of capacitor can be reduced or increased. Variable capacitance is used in small electronic circuits and air is used as a conductor between the two plates. The capitals of the capitals are a soft.  Are attached to which the plates can be moved closer or farther to reduce the capacitance of the capacitor.

 2. Fixed capacitor


 Paper type capacitor

 Paper type capacitor as dielectric, immersed in mom or oil and conductor plates made of aluminum or tin file. Paper type capacitors are made up to 600 watt and have capacities ranging from 0.001 - 1.0 mf.


 Ceramic capacitor

 In this type of capacity, two aluminum plates are used, between which a layer of ceramic compound is placed, the outpost acts as a conductor, they are used in electronics circuits.


 Mica capacitor

 In this type of capacitor, the metal cuckoo and mica layer are used alternately as a dielectric, saying that they are also used for electronic circuits.


 Electrolyte capacitors

 In this type of capacitance, ammonium borate or sodium phosphate solution is mostly used as an electrolyte, which acts as a dielectric between the two plates.

 3. Polarized capacitors

 This type of capital is also called electrolyte tick capacitance. It can source the output current of the power supply and the rated DC supply voltage.

0 Comments